युगान्तर

वो सुबह कभी तो आयेगी..............

कुछ कर दिखाना है.!!!

महिला ओटो चालक

हमेशा कि तरह जब आज ओफिस से घर जाने के लिये IIT गेट पहुचा तो दिमाग मे तनाव था... आज हाथ मे अपेक्षा से ज्यादा सामान था.. मन मे कई प्रशन थे...ओटो मिलेगा कि नहीं .?. कब मिलेगा... ? वो चलने के लिये राजी होगा या नहीं..? कितना पैसा मागेगा... ?.. इत्यादि..इत्यादि...

खैर.. जैसे ही मुख्य सड्क पर पहुँचा दुर से एक खाली ओटो आता हुआ नजर आया...
ओटो पास आया तो देखा कि चालक एक महिला थी.. आश्‍चर्य हुआ.. सुना तो था पर देखा पहली बार .. चालक ने सफेद शर्ट पहना था .. धुला हुआ.. इस्तरी किया हुआ.. (जो दिल्ली से बाहर के है उनकी जानकरी हेतु .. सामान्यत: ओटो चालको की प्रथम छाप (first impression) अच्छी नहीं होती..)

मैने पुछा - मालवीय नगर चलोगे..?
बैठो..
(शायद पहली बार कोई एक ही बार मै राजी हो गया... बिना किसी प्रश्‍न के .. किराया नही पुछा लगा की .. ओटो के प्रति आज मेरी सभी धारणाए टुटने वाली है और किराया भी मीटर से देना होगा..)

ओटो थोडा चलने पर उसने कहा "३० रुपये लगेगें" ... जबाब दिया "मैडम हमेशा तो २० देता हु.." खैर बात २५ मै तय हुई..

ओटो चलाने मै वो अपने किसी भी पुरुष साथी से १९ नही थी... आत्मविश्‍वास था.. ओटो पुरी स्पीड से दौड रहा था.. हर गाडी से ओवरटेक करने कि होड... हर छोटी जगह से आगे निकलने कि चाह.. कोई फर्क नहीं ... जहां तक driving का सवाल हे.. हां एक फर्क था.. चालक ने अपने पांव dashboard पर नहीं रखे थे..

छोटा सफर था .. जल्द ही समाप्त हो गया.. ओटो से उतर कर पैसे दिये.. तब नजर पडी कि चालक के सिने पर एक बैज भी लगा था..."सुनीता चौधरी, प्रथम महिला ओटो चालक"

यह एक उदहरण है महीलाओ के उस जज्बे का जहा वो आज हर क्षेत्र मे अपनी presence दर्शाने को बेताब है.. उनके लिये कोई भी क्षेत्र आज अछुता नहीं है.. उन्हे आगे बढना है.. कुछ कर दिखाना है.!!! हर हाल मे..


सलाम !!!!!

3 comments:

Divine India May 4, 2007 at 10:48 PM  

यह जमाना ही महिलाओं का है…और नारा भी है "चले चलो"…।
अच्छा वृतांत लिखा है…।

raju May 5, 2007 at 1:30 PM  

The theme, expression and spirit- commandable

Ramesh Sharma May 5, 2007 at 8:50 PM  

Acha likha hai..padh kar lagta hai ki..zamana jo hai woh vakai mein change ho raha hai lekin hamari soch mein itna change nahi ho raha hai. Ranjanji, aap ka mindset bhi yehi tha ki 'Auto aapko bhaitayega ya nahi.' App ne bhi Auto ko purling soch rakha tha.
Poora vakya padhne ke baad bhi yeh clear nahi hua ki Mahila Auto Chalak se mulakat ke baad bhi aapka Tanav kam hua ki nahi??
Jara clear kijiye...

My Blog List

Followers

About this blog

आदित्य विडियो में

Loading...

संकलक

www.blogvani.com चिट्ठाजगत